Satsang by Sain Chandru Ram Saheb at Sant Kanwar Ram Saheb Seminar in 1997 ,National College, Mumbai Vol.1

सखी जा प्यारा प्रेमियों,

तंवाह सभनि खे बुधाइन्डे खुशी थे ती त , परम पूज्य बाबा साईं जन जा पूरा सत्संग वॉल्यूम Youtube ते Upload कया था वञिन । जिये हर हिकु प्रेमी पहनजी सहूलियत सां सत्संग जो आनंद वठी सघे ।

“कैसे बने करोड़पति” ऐं “धनवानों को वेंटी” खां पोए हाणे तंवाह सां गदु साइन जन जो 1997 में बॉम्बे में “संत कंवर राम साहेब” जन जे सेमिनार में कयल सत्संग शेयर था क्यूँ ।

“संतन जो हिकु वचन, तंवाहनजे जीवन खे बदले तो सघे”, आनंद वठो ऐं वठायो ।

संत कँवर राम साहेब जी के 76वें शहादत वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में संत आसूदाराम आश्रम में रक्तदान शिविर में 69 यूनिट रक्तदान हुआ।

लखनऊ। दूसरों की जिंदगी बचाने के संकल्प के साथ रविवार को युवाओं से लेकर बुजुर्गों तक ने शिव शांति संत आसूदाराम आश्रम वीआईपी रोड में पहुंचकर महादानी बनने का गौरव हासिल किया। इस दौरान 69 लोगों ने रक्तदान किया। कई लोग तो परिवार समेत रक्तदान के लिए पहुंचे। ‘सिंध वेलफेयर सोसाइटी’ के सत्येन्द्र भवनानी के अनुसार “अमर शहीद संत कंवरराम साहिब के 76वें बलिदान (शहादत) वर्ष पूर्ण” होने के उपलक्ष्य में आयोजित इस रक्तदान शिविर मेें लोगों ने संकल्प लिया कि वे रक्तदान से लोगों की जिंदगी बचाने में अपना सहयोग करते रहेंगे, ताकि खून की कमी की वजह से किसी की जान न जाए। इस दौरान नानक चंद लखमानी, मुरलीधर आहूजा और प्रीति डेम्ब्रा का भी सहयोग रहा।

image

पापा-मम्मी के साथ बेटे ने भी किया रक्तदान
दवा व्यवसायी प्रदीप कुमार पत्नी कंचन भवनानी के साथ संत आसूदाराम आश्रम में रक्तदान कर रहे थे कि तभी दोपहर में उनके उनके 18 वर्षीय बेटे परम का फाेन आया। प्रदीप कुमार ने बताया कि वे और उसकी मां रक्तदान करने आए हैं। ट्यूशन पढ़ने गए परम ने फोन पर कहा कि पापा-मम्मी आप लोग वहीं रुकिए, मैं भी आ रहा हूं रक्तदान करने। परम भी वहां पहुंच गया और माता-पिता के साथ रक्तदान किया। प्रदीप ने बताया कि वे 8-10 बार रक्तदान कर चुके हैं। पत्नी के साथ दूसरी बार आए हैं। बेटा दूसरी बार रक्तदान कर रहा है।

इंजेक्शन से डर के बाद भी किया ब्लड डोनेट
लखनऊ। बीएससी फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट मनीषा अपने पिता जयकिशन मूलवानी के साथ रक्तदान करने पहुंची। विप्रो कर्मचारी जयकिशन ने बताया कि वे तो कई बार रक्तदान कर चुके हैं लेकिन उनकी 18 वर्षीय बेटी मनीषा जो कि इंजेक्शन तक लगवाने से डरती है, ने खुद इच्छा जाहिर की कि वह भी रक्तदान कर इस महाअभियान में अपना योगदान देगी।

विशेष सहयोग: सिंध वेलफेयर सोसाइटी (www.sindhwelfare.org)
सखी बाबा युवा मंडल, SWS Power of Women (Facebook.com/swspw), SWS Yuwa Mandal, संत कँवर राम सेवा मंडल

मीडिया पार्टनर: अमर उजाला ।

अमर शहीद संत कंवरराम मिशन (भारत)
मुख्यालय: शिव शांति संत आसूदाराम आश्रम, लखनऊ।
website: http://www.skrmission.com
Blog: http://www.Skr75.WordPress.com
faceBook page: http://www.facebook.com/skrmission

TO JOIN SEND YOUR NAME, CITY & COUNTRY TO +91-9559544477 ON WHATSAPP

संत कँवर के नाम से शुरू होगी ट्रेन, सिंधी समाज को मिलेगी नागरिकता, दूर होंगी परेशानियां

सिंधी गुरु के नाम से जल्द चलेगी ट्रेन

image

लखनऊ (ब्यूरो)। सभी धर्मों के देवी-देवताओं के नाम से ट्रेनों का संचालन हो रहा है। धार्मिक स्थलों का नाम रखा गया है। इसी तर्ज पर सिंधी समाज के धर्म गुरु संत कंवर राम साहिब जी के नाम से केंद्र सरकार ट्रेन चलाने की घोषणा करें। ये मांग संत कँवर राम मिशन (भारत) की ओर से संत सखी बाबा आसूदाराम साहिब के 55वें निर्वाण महोत्सव के अंतिम दिन रविवार को आलमबाग स्थित संत बाबा आसूदा राम आश्रम पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से की गई। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वो इसको लेकर आश्वासन नहीं देंगे लेकिन यकीन दिलाना चाहता हूं कि सिंधी समाज के लोगों की इस मांग को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। इस खास मौके पर सिंधी धर्मगुरु श्री साईं चाण्ड्रू साहिब, साईं मोहनलाल, साईं हरीशलाल, साई किशन लाल मौजूद मंच पर उपस्थित रहे। इस खास मौके पर आश्रम की ओर से गृहमंत्री राजनाथ सिंह का नागरिक अभिनंदन किया गया। धर्मगुरु संग अन्य लोगों ने उनको स्मृति चिन्ह और अंग वस्त्र भेंट किए। सिंधी समाज की ओर से मुरलीधर आहूजा, सतेंद्र भावनानी, अतुल राजपाल, नानक चंद लखमानी, प्रेम कृपलानी, अशोक मोतियानी, श्याम कृष्णनानी, सुमित मंगलानी और पाकिस्तान के सिंध प्रांत से आए सिंधी लोग मंच पर मौजूद रहे जबकि बड़ी संख्या में सिंधी समाज के लोग कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित रहे।

बाबा संत आसूदा राम के 55वें निर्वाण दिवस समारोह में भी पहुंचे गृहमंत्री, कहा सिंधी समाज को मिलेगी नागरिकता, दूर होंगी परेशानियां

शिव शांति आश्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सिंधी समाज के लोगों को भारत की नागरिकता देने की प्रक्रिया चल रही है। बांग्लादेश व पाकिस्तान आए ऐसे लोग जिनका वीजा या पासपोर्ट समाप्त भी हो गया है, उन्हें कोई परेशान नहीं करेगा। सरकार इसके लिये प्रयासरत है। उन्होंने बाहर से आए सिंधी समाज के लोगों का सांसद होने के नाते स्वागत किया। साथ ही सिंधी भाषा में वाक्य बोलकर उनको आने के लिए धन्यवाद भी दिया।